परिजनों के बीच सुलह होने के आधार पर भी बरी नहीं हो सकते

 सुप्रीमकोर्ट ने कहा है कि हत्या जैसे घृणित अपराधों की अदालतों द्वारा अनदेखी नहीं की जा सकती और आरोपी तथा मृतक के परिजनों के बीच मामले में सुलह होने के आधार पर भी बरी करने […]

न्याय की गाड़ी अब आपके दरवाजे पर

कर्नाटक में जनता के दरवाजे पर न्याय उपलब्ध कराने के लिए बस में “मोबाइल लोक अदालत सेवा” आरंभ की गई है। इससे अदालतों की लंबी लड़ाई का खर्च नहीं उठा पाने वाले लोगों को राहत […]