‘हत्या क्षणिक आवेश में की जा सकती है, आर्थिक अपराध तो सोच-समझकर अपने लाभ के लिए किए जाते हैं’

आय से अधिक संपत्तिके 13 साल पुराने मामले में तीस हजारी कोर्ट स्थित विशेष न्यायाधीश वीके महेश्वरी की अदालत ने पूर्व संचार मंत्री सुखराम के कार्यकाल के दौरान टेलिकम्यूनिकेशन विभाग की डिप्टी डायरेक्टर जनरल 57 […]

पूर्व मंत्री सुखराम को कोर्ट से राहत

दिल्ली हाईकोर्ट ने पूर्व संचार मंत्री सुखराम को अंतरिम जमानत दे दी है. सुखराम को एक निचली अदालत ने आय के ज्ञात श्रोतों से अधिक संपत्ति रखने के मामले में तीन साल कैद की सजा […]