गैरकानूनी हिरासत से मिला अपयश, मौत से बदतर: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक फैसले में कहा है कि व्यक्तिगत स्वतंत्रता किसी भी नागरिक का सबसे महत्वपूर्ण मूलभूत अधिकार है तथा गैरकानूनी हिरासत से उसे अपूरणीय क्षति और उसका अपमान होता है। न्यायमूर्ति अल्तमश […]