भोपाल गैस त्रासदी के अपराधियों को 23 साल दो-दो साल की जेल और एक-एक लाख रुपये के जुर्माने की सजा

भोपाल गैस त्रासदी के आठ अपराधियों को 23 साल तक चली सुनवाई के दौरान 178 लोगों की गवाही  लेने और तीन हज़ार से ज्यादा पन्नों दस्तावेजों की खाक छानने के बाद भोपाल के मुख्य न्यायिक […]

बाल न्याय बोर्ड बनाने, निगरानी गृह स्थापित करने में कई राज्य नाकाम

उच्चतम न्यायालय ने बाल न्याय बोर्ड बनाने और हर जिले में निगरानी गृह स्थापित करने के निर्देश के दो साल के बाद भी, अनुपालन रिपोर्ट दाखिल नहीं करने वाली राज्य सरकारों के मुख्य सचिवों को […]