जजों की शिकायत सार्वजनिक होंगी

complain pending

complain pendingकानून मंत्रालय को जिन जजों के खिलाफ शिकायतें मिली हैं, संभवत अब उनके नाम सार्वजनिक हो सकते हैं।

केंद्रीय सूचना आयोग (Central Information Commission) ने मंत्रालय को निर्देश दिए हैं कि सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट को निर्दिष्ट शिकायती पत्रों के साथ अग्रसारण पत्रों का खुलासा किया जाए।

मंत्रालय ने इससे पूर्व दावा किया था कि शिकायत पत्रों की प्रति नहीं उपलब्ध कराई जा सकती है क्योंकि ये प्रधान न्यायाधीश और हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीशों को भेजी जा चुकी हैं और इनका कोई रिकॉर्ड नहीं रखा जाता।

VN:F [1.9.22_1171]
Rating: 0.0/10 (0 votes cast)
Print Friendly, PDF & Email

One thought on “जजों की शिकायत सार्वजनिक होंगी”

  1. यह बिलकुल भ्रम है क्योंकि न्याय विभाग में कोई रिकार्ड व्यवस्थित है ही नहीं | यहाँ तक की सुचना के अधिकार के आवेदन , उनके जवाब और रिकार्ड की सूचि तक विभाग में उपलब्ध नहीं है और जजों की शिकायतों को तो मूल रूप में ही मुख्यन्यायाधीश के पास भेज दिया जाता है अथ विभाग में मिलाने का तो प्रश्न ही नहीं उठता | न्यायालयों से रिकार्ड लेना कितना आसान है यह जनता जानती है | और विवरण देखिये :—
    http://www.rti.india.gov.in/appeal_second/SA_UG_12_8260k6hv_doc2.pdf

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)