वकालत के लिए पंजीयन के पहले विधि-स्नातकों को अखिल भारतीय परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी

देश में वकालत करने के लिए अब सिर्फ विधि स्नातक होना ही पर्याप्त नहीं होगा। अब विधि स्नातक को किसी भी राज्य बार कौंसिल में पंजीयन कराने के लिए एक अखिल भारतीय परीक्षा में उत्तीर्ण होना होगा। ऐसी पहली परीक्षा पांच दिसंबर को होगी। उसके बाद हर छह माह में इसका आयोजन किया जाएगा। इसका परिणाम सिर्फ उत्तीर्ण या अनुत्तीर्ण होगा। अनुत्तीर्ण व्यक्ति फिर से अगली परीक्षा में बैठ सकेंगे, और वे तब तक परीक्षा देते रह सकते हैं जब तक कि वे उत्तीर्ण न हो जाएँ या थक कर प्रयास न छोड़ दें।
सॉलिसिटर जनरल एवं बार काउंसिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन गोपाल सुब्रमण्ह्यम का कहना है कि इस ‘अखिल भारतीय बार काउंसिल परीक्षा’ के माध्यम से विधि को एक प्रोफेशन के रूप में अपनाने की इच्छा रखने वालों के ज्ञान व कौशल का परीक्षण होगा।’
दिसंबर 2010 में होने वाली परीक्षा में 2009-10 सत्र तक विधि स्नातक हो चुका कोई भी विद्यार्थी बैठ सकेगा, पहली परीक्षा 5 दिसंबर 2010 को होगी। इस के लिए आवेदन पत्र 15 जुलाई से 30 सितंबर तक प्राप्त किए जा सकेंगे तथा इस की शुल्क 1300 रुपए होगी। यह परीक्षा प्रत्येक छह माह में आयोजित की जाएगी। परीक्षार्थी माध्यम के रूप में नौ भाषाओं में से किसी एक को चुन सकेगा। परीक्षा में वस्तुनिष्ठ बहुविकल्प प्रकार के 100 प्रश्न पूछे जाएंगे और परीक्षा हॉल में अपने साथ नोटस् और किताबें ले जाने की छूट होगी।
VN:F [1.9.22_1171]
Rating: 0.0/10 (0 votes cast)
Print Friendly, PDF & Email
यहाँ आने के लिए इन मामलों की हुई तलाश:
  • विधि स्नातक
  • vakil bina panjiyan ke cot me practice kar sakte hai

7 thoughts on “वकालत के लिए पंजीयन के पहले विधि-स्नातकों को अखिल भारतीय परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी”

  1. its good, otherwise every tom dick & harry became Lawyer

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)
  2. नहीं समझ नहीं आया. आख़िर पुराने वकील लोग नए आने वालों से इतने डरते क्यों हैं. बस एक यही ऐसा पेशा (profession) जहां इतनी असुरक्षा की भावना है, इंजीनियरी, चिकित्सा, लेखाकारी आदि किसी भी पेशे में ऐसा देखने को नहीं मिलता.

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)
  3. काजल कुमार जी जैसे प्री मेडिकल टेस्ट पीएमटी, प्री इंजीनियरिंग टेस्ट पीईटी होता है ना वैसा ही यह टेस्ट होगा। आपको किसने कह दिया कि इंजीनियरी, चिकित्सा, लेखाकारी आदि किसी भी पेशे में ऐसा देखने को नहीं मिलता

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)
  4. नौकरी के लिये तो हर जगह टेस्ट लिया जाता है, इंटरव्यू लिये जाते हैं

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)
  5. अगर बिधि स्नातकों से इस परीक्षा में सामाजिक सरोकार ,सत्य-न्याय पर आधारित न्याय और समाज के निचले स्तर तक न्याय कैसे पहुंचे ,इस विषय पर बिधि स्नातकों के ज्ञान को परखा जाये तब तो कुछ फायदा होगा इस परीक्षा का ,अन्यथा ये परीक्षा न्याय पालिका में भ्रष्टाचार को और बढ़ावा ही देगा |

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)
  6. जो इस परीक्षा में पास नहीं कर पाएंगे .. उसकी डिग्री का क्‍या होगा ??

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: +2 (from 2 votes)
  7. हाल के वर्षो में वकाला के पेशे में नैतिक और सैद्धन्तिक रूप से गिरावट आई है। सिर्फ डिग्री लेना ही काफी नही होता । परीक्षा लेने से विधि स्नातको की गुणवत्ता मे सुधार होगा ।

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)