कसाब के वकील, इस्लामिक जिमखाना के खिलाफ अदालत में जायेंगे

कसाब के वकील अब्बास काजमी ने कहा है कि वह इस्लामिक जिमखाना के न्यासी पद से उन्हें हटाने के जिमखाना के विवादास्पद फैसले को अदालत में चुनौती देंगे। जिमखाना ने कथित तौर पर मुंबई हमलों के आरोपी मोहम्मद अजमल आमिर कसाब की पैरवी करने के लिए काजमी के खिलाफ यह कदम उठाया है। काजमी ने कहा, ‘यह फैसला पूरी तरह गैरकानूनी है और निजी रंजिश का परिणाम है।’ 

दरअसल इस्लामिक जिमखाना के न्यासी पद से काजमी की नियुक्ति को अप्रैल में इस आधार पर रद्द कर दिया था कि किसी आतंकी की पैरवी करना इस्लाम की भावना के विपरीत है। जिमखाना ने काजमी को भेजे एक पत्र में लिखा है, ‘आपने सर्वाधिक खूंखार आतंकी कसाब की पैरवी करने पर सहमति जताई है। यह इस्लाम की भावना के विपरीत है। इस्लाम में आतंकवाद के लिए कोई जगह नहीं है और किसी आतंकवादी का बचाव करने की भी कोई गुंजाइश नहीं है। जिमखाना की अखंडता को बनाए रखने के लिए आपका न्यासी पद बर्खास्त किया जाता है।’

काजमी ने कहा, ‘इसमें राजनीतिक बदले की भावना की बू आती है। जिमखाना एक मुस्लिम इकाई नहीं है बल्कि यह लोगों का समूह है। कैसे वे कह सकते हैं कि किसी आरोपी का बचाव करना इस्लाम के विरुद्ध है।‘ कसाब के वकील ने कहा कि मैं अपने पेशेवर कर्तव्य का पालन कर रहा हूं। कसाब की पैरवी करने का इस्लाम से कोई लेना देना नहीं है। अदालत ने मुझे कसाब का मामला देखने को कहा और मैंने दिशा निर्देश का पालन किया। 
उन्होंने कहा कि वह पहले जिमखाना को कानूनी नोटिस भेजकर फैसले को चुनौती देंगे और उसके बाद न्याय हासिल करने के लिए अदालत में जाएंगे। कसाब के वकील का कहना है कि मुझसे कसाब का बचाव नहीं करने को कहना मेरे ऊपर दबाव डालने जैसा है और यह न्याय के प्रशासन में हस्तक्षेप है।
काजमी ने आरोप लगाया कि उन्होंने हाल ही में जिमखाना की वार्षिक आम बैठक में जिमखाना के अध्यक्ष जकात सिद्दीकी के साथ सार्वजनिक रूप से अपने मतभेद जाहिर किए थे और केवल इसी के चलते सिद्दीकी ने उन्हें न्यासी पद से हटाया। काजमी ने दावा किया कि ऐसा लगता है कि सिद्दीकी मुझे निजी खुंदक निकालना चाहते हैं। मुझे न्यासी पद से हटाने के फैसले के पीछे कोई छुपा एजेंडा है।
जिमखाना की स्थापना 1890 में की गई थी और इसके सदस्यों की संख्या करीब 1500 है। यह चैरिटी कमीश्नर के पास पंजीकृत नहीं है और इसे एसोसिएशन आफ पर्सन्स के प्रावधानों के तहत चलाया जा रहा है।
VN:F [1.9.22_1171]
Rating: 0.0/10 (0 votes cast)
Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)