भ्रूणहत्या करने वाले डॉक्टर दंपत्ति को दस साल की कैद

लुधियाना एडिशनल सैशन जज किशोर कुमार की अदालत ने भ्रूणहत्या करने वाले डॉक्टर दंपत्ति को दस साल की कैद और एक-एक हजार रुपए बतौर जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई है। दोषी डॉक्टर दंपत्ति, फील्ड गंज के निवासी है और वे इसी इलाके में गुरुराम दास अस्पताल चला रहे हैं। अभियोजन पक्ष ने अदालत को बताया कि 19 मार्च, 2005 को थाना डिवीजन नंबर दो की एसएचओ गुरमीत कौर को फैमिली वैलफेयर अफसर डॉ. मनोरमा अवस्थी ने पत्र लिखकर बताया था कि उक्त डॉ. दंपती शरण कौर और अवतार सिंह अपने अस्पताल में गैर कानूनी तरीके और गर्भवती की सहमति के बिना गर्भपात करने वाले हैं। पुलिस ने डॉ. अवस्थी की शिकायत पर डॉक्टर दंपती के खिलाफ आईपीसी की धारा 313 और मैडिकल टर्मीनेशन आफ प्रेगनैंसी एक्ट की धारा चार के तहत मामला दर्ज कर दोनों विभागों की टीमों ने अस्पताल में दबिश देकर रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया था। अभियोजन ने अपना पक्ष साबित करने के लिए शिकायतकर्ता डॉ. मनोरमा अवस्थी के अलावा 10 गवाहों को अदालत में पेश किया।

अदालत में गवाही के दौरान गर्भपात कराने वाली महिला ने बताया कि घटना वाले दिन वह अपनी ननद के साथ फील्ड गंज में गई हुई थी। इस दौरान वह करीब चार माह से गर्भवती थी। अचानक दर्द शुरू होने पर वह उक्त अस्पताल चली गई, जहां कुदरती तौर पर उसका गर्भपात हो गया। इसमें डाक्टरों का कोई कसूर नहीं है। बचाव पक्ष ने अदालत को बताया कि डॉ. अवस्थी ने अस्पताल से रिश्वत की मांग की थी और इनकार करने पर उसे फंसा दिया।

उधर, अभियोजन पक्ष का कहना था कि टीम ने मौके पर डॉ. दंपत्ति को रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने यह फैसला सुनाया और इसके बाद डॉक्टर दंपत्ति को जेल भेज दिया गया।

(समाचार सौजन्य: भास्कर)
VN:F [1.9.22_1171]
Rating: 0.0/10 (0 votes cast)
Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)