स्कूल में काला जादू सिखाने के आरोपी ने सुप्रीम कोर्ट के जज पर चप्पल फेंकी

मुंबई के ‘बास स्कूल आफ म्यूजिक’ की एक महिला ने 20 मार्च को सुप्रीम कोर्ट के जज पर चप्पल फेंक दी। कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया। न्यायालय को अपशब्द कहने वाली उसकी तीन महिला साथियों व एक पुरुष को भी जेल भेज दिया गया। बास स्कूल आफ म्यूजिक की ये महिलाएं न्यायालय की अवमानना के मामले में सुनवाई के लिए कोर्ट आई थीं। उनमें से एक महिला ने मामले की सुनवाई कर रही पीठ के न्यायमूर्ति अरिजीत पसायत व न्यायमूर्ति ए.के. गांगुली की ओर चप्पल फेंकी। कोर्ट ने महिला को तत्काल हिरासत में लेने का आदेश दिया और पांचों को जेल भेज दिया। हालांकि रात में पुरुष को छोड़ दिया गया। मामले की अगली सुनवाई 23 मार्च को होगी।

इन पांचों ने 19 मार्च को सुप्रीम कोर्ट में रजिस्ट्रार के समक्ष एक अर्जी दी थी। इसमें बंबई उच्च न्यायालय के 13 और सुप्रीम कोर्ट के सात न्यायाधीशों के लिए बड़े अपमानजनक शब्द कहे गए थे। रजिस्ट्रार ने अर्जी खारिज कर दी थी। 20 मार्च को इन लोगों की पहले से लंबित अवमानना याचिकाओं पर सुनवाई होनी थी। इसी मामले की सुनवाई के लिए ये सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे।

इस मामले में विवाद तब उठा था, जब बास स्कूल के विद्यार्थियों के संरक्षकों ने स्कूल में काला जादू सिखाये जाने और बच्चों को बरगलाये जाने का आरोप लगाते हुए पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मामले की जांच के बाद स्कूल को बंद करने के आदेश दिए गए। बास स्कूल की टीचर व छात्रों ने स्कूल बंद करने के आदेश को पहले हाईकोर्ट में और फिर सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। जब इन लोगों के पक्ष में कोर्ट से आदेश नहीं आया तो इन लोगों ने बंबई हाई कोर्ट व सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों पर आरोप लगाते हुए अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करते हुए याचिकाएं दाखिल कीं। इस पर कोर्ट ने इनके खिलाफ न्यायालय की अवमानना की कार्यवाही शुरू की थी।
VN:F [1.9.22_1171]
Rating: 0.0/10 (0 votes cast)
Print Friendly, PDF & Email

4 thoughts on “स्कूल में काला जादू सिखाने के आरोपी ने सुप्रीम कोर्ट के जज पर चप्पल फेंकी”

  1. जब काला जादू नहीं चला तो चप्पल चलानी पड़ी। जेल के दूसरे कैदियों को होशियार रहना चाहिए।

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)
  2. अजीब लगते हैं ये स्कूल वाले। स्कूल बन्द कर शायद ठीक ही किया गया था।

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)
  3. बहुत बढ़िया आपके चिठ्ठे की चर्चा समयचक्र में आज

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)
  4. भैया, पुरुष को छोड़ दिया…………….

    कहीं लाल चड्ढी ब्रिगेड जजों को भी कुछ?? भेजने की योजना तो नहीं बना रही…

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)