अदालत ने मुम्बई हमलों में लापरवाही के लिए केन्द्रीय मंत्रियों के विरुद्ध मुकदमे की इजाजत मांगी

26 नवंबर को हुए मुंबई आतंकवादी हमलों से जुड़ी मीडिया खबरों का जयपुर की एक स्थानीय अदालत ने स्वत: प्रसंज्ञान लेते हुए केन्द्रीय मंत्रियों के विरुद्ध मुकदमा चलाए जाने की इजाजत राष्ट्रपति से चाही है।

कोर्ट ने कथित तौर पर अपनी जिम्मेदारी ठीक से नहीं निभाने के कारण केंद्रीय गृह, रक्षा और जहाजरानी मंत्रियों के खिलाफ अभियोग (मुकदमा) चलाने की राष्ट्रपति से अनुमति मांगी है।   कोर्ट का कहना है कि मंत्रियों की कथित लापरवाही के कारण ही मुंबई में आतंकवादी हमला हुआ।

अदालत ने नौसेना की दक्षिणी कमान के प्रमुख, और कॉस्ट गार्ड के प्रमुख पर भी मुकदमा चलाने की इजाजत मांगी है।  इसके साथ ही अदालत ने महाराष्ट्र के राज्यपाल से भी प्रदेश के तत्कालीन गृह मंत्री, गृह विभाग के प्रमुख सचिव और मुंबई पुलिस आयुक्त पर मुकदमा चलाने की अनुमति मांगी है।

इसी साल पहली जनवरी को दिए और शनिवार (10 जनवरी को) जारी किए गए एक आदेश में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट दिनेश चंद गुप्ता ने प्राथमिक रूप से  इन सबको दोषी माना है।  उनके अनुसार इन सब लोगों ने अपने काम में लापरवाही बरती जिसका नतीजा मुंबई आतंकी हमले के रूप में सामने आया।  अदालत ने 2 जनवरी को अपने आदेश की प्रति राष्ट्रपति और महाराष्ट्र के राज्यपाल को भेज दी

VN:F [1.9.22_1171]
Rating: 0.0/10 (0 votes cast)
Print Friendly, PDF & Email

One thought on “अदालत ने मुम्बई हमलों में लापरवाही के लिए केन्द्रीय मंत्रियों के विरुद्ध मुकदमे की इजाजत मांगी”

  1. करो मुकद्दमा तुम मगर, यह तो सोचो यार.
    कौन सजा देगा, किसे, सब तो एक हैं यार.
    सारे एक हैं यार, दुष्ट सिस्टम के रक्षक.
    जनता की खातिर बन जाते सारे भक्षक.
    कह साधक कवि जन-अदालत ही करे मुकदमा.
    फ़ांसी पर लटका कर, पूरा करो मुकदमा.

    VA:F [1.9.22_1171]
    Rating: 0 (from 0 votes)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)